दीदी, ये गणतंत्र दिवस क्या है?

by Teena Sharma Madhvi
           हैरान हूं मैं आज। आज तो ‘रिपब्लिक डे’ है। क्या होता है गणतंत्र दिवस? ये सवाल हैं किसी का मुझसे…
पड़ौस में आयोजित गणतंत्र दिवस समारोह में सभी इकट्ठा हुए। जब मैंने सभी को गणतंत्र दिवस की

शुभकामनाएं दी तभी एक बच्चे ने बेहद ही मासूमियत से मुझसे सवाल किया, दीदी आज तो ‘रिपब्लिक डे’ हैं ये गणतंत्र दिवस क्या होता है?   
          
      ये सुनकर मैं हैरान रह गई। उसका सवाल तो मासूम था लेकिन उसके मायने बेहद गहरा अर्थ लिए हुए थे। 

    गणतंत्र दिवस अब रिपब्लिक डे हो गया है। ये सिर्फ एक ‘भाषा’ अंतर था या ‘संवादहीनता’।  
       
               बच्चे के इस सवाल ने मुझे मेरा बचपन या​द दिला दिया। जब एक माह पहले ही हम गणतंत्र दिवस की तैयारी में जुट जाते थे। इस दौरान स्कूल में होने वाली निबंध प्रतियोगिता, देशभक्ति से ओत—प्रोत रंगारंग सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के जरिए ही गणतंत्र लागू होने, संविधान के निर्माण और वीर—शहीदों के बलिदान की ढेरों कहानियां सुन लेते। और गणतंत्र क्यूं मनाया जाता है, सही अर्थ में इसके मायने समझ लेते। 
   
                खैर, अंग्रेजी शब्द रिपब्लिक से कोई गुरेज़ नहीं है, और ना ही कोई नाराज़गी। लेकिन रिपब्लिक डे के साथ ही साथ गणतंत्र दिवस का अर्थ, मर्म और इसके मायने आने वाली पीढ़ी को समझाने की ज़रुरत है शायद….। 
             
             ताकि हमारे देश के गौरवशाली इतिहास, विकास और संविधान के सही मायने हम आने वाली पीढ़ी को विरासत के रुप में सौंप सकें। और शायद हमें भी इस बात से सुकून रहेगा कि देश के लिए एक छोटा सा काम हम भी कर पाएं….। 

                         आप सभी को गणतंत्र दिवस की ढेर सारी शुभ कामनाएं।

Related Posts

8 comments

Prashant sharma January 26, 2020 - 9:04 am

बिल्कुल सही दीदी।
प्रशांत शर्मा

Reply
Teena Sharma 'Madhvi' January 26, 2020 - 10:42 am

thankuuu

Reply
Secreatpage January 26, 2020 - 11:44 am

बहुत ही उम्दा लेखनी, अच्छा संदेश

Reply
Secreatpage January 26, 2020 - 11:45 am

बहुत ही अच्छी लेखनी,, अच्छा संदेश

Reply
Unknown January 27, 2020 - 6:16 am

Bahut shandar

Reply
Teena Sharma 'Madhvi' February 1, 2020 - 10:54 am

thankuu

Reply
Teena Sharma 'Madhvi' February 1, 2020 - 10:54 am

thankuu

Reply
Teena Sharma 'Madhvi' February 6, 2020 - 3:23 pm

thankuu

Reply

Leave a Comment

मैं अपने ब्लॉग kahani ka kona (human touch) पर आप सभी का स्वागत करती हूं। मेरी कहानियों को पढ़ने और उन्हें पसंद करने के लिए आप सभी का दिल से शुक्रिया अदा करती हूं। मैं मूल रुप से एक पत्रकार हूं और पिछले सत्रह सालों से सामाजिक मुद्दों को रिपोर्टिंग के जरिए अपनी लेखनी से उठाती रही हूं। इस दौरान मैंने महसूस किया कि पत्रकारिता की अपनी सीमा होती हैं कुछ ऐसे अनछूए पहलू भी होते हैं जिसे कई बार हम लिख नहीं सकते हैं।

error: Content is protected !!